Home बालाघाट अशोकनगर भेजा गया गरीबों का चावल घटिया निकला, वापस लौटाया |

अशोकनगर भेजा गया गरीबों का चावल घटिया निकला, वापस लौटाया |

0 second read
0
0
206
सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। बालाघाट से अशोकनगर भेजी गई चावल से भरी एक रेलवे रैक जिसमें लगभग 26 हजार क्विंटल चावल भरा हुआ था उसे आपूर्ति निगम एवं प्रशासन के अधिकारियों ने अमानक एवं निर्धारित मात्रा से अधिक ब्रोकन पाये जाने एवं रिसाईकिलिंग किये गये चावल की क्वालिटी पाये जाने पर उसे लेने से इंकार कर दिया है। यह रेलवे रैक 22 अप्रैल 2017 को बालाघाट से अशोक नगर के लिये रवाना की गई थी रैंक से भेजे गये चावल का मूल्य लगभग 50 करोड रूपये बताया गया है।
अशोकनगर में जो चावल भेजा गया है उनकी बोरियों में लगे टेग के अनुसार जिन मिलर्स ने चावल प्रदाय किया है उनमें सचदेव राईस मिल कोसमी, रामदेव फु्रड प्रोडक्ट कोसमी, मॉ शारदा राईस मिल वारासिवनी, अम्बिका राईस मिल नवेगांव, अग्रवाल पारवाईलिंग उघोग कटंगी, अम्बाजी सारटेक्स सिल्कि राइस मिल मांझापूर, मॉ जानकी राईस मिल गर्रा, ओम सांई राइस मिल कोसमी, जय दूर्गा फु्रड इंडस्टीज गर्रा, बालाजी परवाईलिंग उधोग नवेगांव, जय महावीर राइस मिल नवेगांव, शिवशक्ति राइस मिल गर्रा, पूनम एग्रो इंडस्टिज गर्रा, श्रीमति चंपादेवी राईस मिल गर्रा, विजय राइस मिल कोसमी, गीता ट्रेडर्स गर्रा, राम परवाईलिंग उधोग नवेगांव, शुभ मंगल फु्रड कोसमी, के नाम टेग में दर्शायें गये है।
यह उल्लेखनीय है कि गत वर्ष बालाघाट से विदिशा भेजी गई चावल से भरी 2 रैक अमानक और घटिया चांवल पाये जाने पर निरस्त कर दी गई थी जिसे बाद में राइस मिलर्स से अपग्रेड करवाकर चांवल बदलवाया गया था। अशोकनगर भेजे गये अमानक स्तर का चांवल रिजेक्ट कर देने के संबंध में कलेक्टर श्री भरत यादव को अवगत कराये जाने पर उन्होने कहा की यह गंभीर मामला है मेरे संज्ञान में लाया गया है संबधित मिलर्स एवं संलिप्त अधिकारियों जो खरीदी में दोषी पाया जायेगा उसके विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी।
मध्यप्रदेश राज्य आपूर्ति निगम के अध्यक्ष डॉ. श्री हितेश वाजपेयी को इस संबंध में अवगत कराये जाने पर उन्होने कहा की मुझे गुणवत्ताहीन चांवल अशोकनगर भेजे जाने की जानकारी प्राप्त हुई है यह गंभीर मामला है इसकी उच्चस्तरीय जांच एवं संलिप्त राईस मिलर्स और अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये है यदि आवश्यक हुआ तो उनके विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के लिये एफआईआर दर्ज कराई जायेगी।
श्री वाजपेयी ने आपूर्ति निगम में व्याप्त गडबडियो के संबंध में मिडिया की भूमिका की सरहना करते हुये कहा की मुझे सबसे पहले मिडिया से जानकारी मिलती है और मैं तत्परतापूर्वक संज्ञान में लेकर कार्यवाही करवाता हूॅं।
यह उल्लेखनीय है कि विगत 2 साल के अंदर विदिशा भेजी गई चांवल की रैंक जिसका बाजार मूल्य 1 अरब रूपये रहा है अमानक पाया गया कटगी के गोदामों में अभी भी 50 करोड रूपये से अधिक का अमानक एवं खाने के अयोग्य चांवल अभी भी गोदामों में पडा हुआ है और अब अशोकनगर भेजे गये चांवल के अमानक पाये जाने पर आपूर्ति निगम ने चल रहे करोडों रूपये घोटाला प्रकाश में आया है लेकिन इन 2 वर्षो में छोटे से लेकर उच्चस्तर के किसी भी अधिकारी के खिलाफ आजतक कोई कार्यवाही नही की गई यह मिलीभगत का नतीजा है।
उधर राईस मिलर्स पर राजनेताओ वरदहस्त है जो चूनाव तथा मौके बे मौके मिलने वाली करोडों रूपये की सौगात पा लेने के बाद इतने बडे घोटालों पर अपनी जुबा बंद रखते है इस लिये घोटालों का सिलसिला बदस्तुर चल रहा है।
Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

BJP MLA MANGAL SINGH DHURVE ने बिना अनुमति बोर खुदवाया, कैमरे देख मशीन हटवा दी

भोपाल। बालाघाट में बिना अनुमति के तालाब किनारे कच्ची सड़क बनाने के बाद अब एक और भाजपा विधा…