Home बालाघाट पृथक प्रवेश द्वार बनाये जाने का विरोध, जिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी संगठन ने सौंपा ज्ञापन

पृथक प्रवेश द्वार बनाये जाने का विरोध, जिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी संगठन ने सौंपा ज्ञापन

0 second read
0
0
80

सुधीर ताम्रकार। बालाघाट
नगर पालिका परिषद वारासिवनी द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानीयों की स्मृति को बनाये रखने के उद्देश्य से एक प्रवेश द्वार बनाकर उसमें सभी सेनानीयों का नाम अंकित करने के संबंध में प्रस्ताव पारित कर निर्णय लेने के साथ साथ परिषद की बैठक में पृथक पृथक तीन सेनानीयों के नाम से जिसमें स्व.श्री हरिशंकर जी अग्रवाल, पं.श्री राधाकिशन जी मिश्रा एवं स्व.श्री रोशनालाल जी सोनी के नाम से प्रवेश द्वार बनाये जाने का निर्णय पारित किया है।
इस निर्णय के विरोध में जिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी संगठन द्वारा दिनांक 4 अगस्त 2018 को बैठक आयोजित कर नगर पालिका परिषद द्वारा तीन पृथक नामों से प्रवेश द्वार बनाये जाने का विरोध करते हुये नगर में केवल एक ही प्रवेश द्वार बनाये जाने की मांग करते हुये पृथक से द्वार बनाये जाने के निर्णय पर पूर्नाविचार किये जाने हेतु एक ज्ञापन सौंपे जाने का प्रस्ताव पारित किया है।
पारित प्रस्ताव के आधार पर संगठन के जिला अध्यक्ष श्री आनंद ताम्रकार एवं सचिव श्री अतेन्द्र जैन ने माननीय विधायक डाॅक्टर योग्रेन्द निर्मल, श्री विवेक पटले अध्यक्ष नगर पालिका वारासिवनी , श्रीमान कलेक्टर महोदय बालाघाट, श्री अनुविभागीय अधिकारी राजस्व वारासिवनी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी वारासिवनी तथा श्रीमान नगर निरीक्षक पुलिस थाना वारासिवनी को एक ज्ञापन प्रस्तुत किया।
यह उल्लेखनीय है की मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर पालिका परिषद वारासिवनी द्वारा पत्र क्रमांक 349/2018, 1 फरवरी 2018 के माध्यम से संगठन के अध्यक्ष श्री आनंद ताम्रकार को अवगत कराया थी की वारासिवनी नगर में स्वतंत्रता संग्राम सेनानीयों की स्मृति में बनाये जाने वाले एक ही स्मृति प्रवेश द्वार पर सभी सम्माननीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानीयों के नाम अंकित कर ततसंबंध में निर्माण कराये जाने हेतु आगामी परिषद की बैठक में निर्णय उपरांत प्रवेश द्वार के निर्माण के लिये आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।
इसके बावजूद पृथक पृथक नामों से प्रवेश द्वार बनाये जाने के परिषद द्वारा निर्णय लिये जाने से संगठन के सदस्यों का ठेस पहुंची है।
संगठन की ओर से यह भी निर्णय लिया गया है की पृथक पृथक द्वार बनाये जाने के निर्णय का रद्द नही किया जाता तो संगठन के सदस्य आंदोलन करने के लिये तत्पर रहेगें।

Load More Related Articles
Load More By Sudhir Tamrakar
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सांप सीढी बनाकर मतदान के लिये किया जागरूक

आनंद ताम्रकार। बालाघाट भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त सोशल मीडिया एम्बेसडर दुर्गेश तिवा…