Home बालाघाट बैनर… पोस्टर लगाना….हत्या ….. टैक्टर को जलाना…. नक्सली दल विस्तार एरिया के सक्रिय सदस्य 11 संदिग्ध आरोपियों सहयोग करना स्वीकार किया

बैनर… पोस्टर लगाना….हत्या ….. टैक्टर को जलाना…. नक्सली दल विस्तार एरिया के सक्रिय सदस्य 11 संदिग्ध आरोपियों सहयोग करना स्वीकार किया

0 second read
0
0
20
आनंद ताम्रकार। बालाघाट जिले के लांजी पुलिस थाना में दर्ज अपराध की विवेचना के दौरान जिन 11 आरोपियों को नक्सलवादियों की मदद करने तथा उन्हें सहयोग करते हुये कार्यविस्तार में सहभागिता करने के आरोप में पुलिस द्वारा गिरफतार किया गया था उनसे पूछताछ दौरान पुलिस को अहम जानकारी मिली है तथा गिरफतार व्यक्तियों की सहभागिता होने का पता चला है।
जिन 11 संदिग्ध आरोपियों को पकडा गया है उनमें पतिराम मरकाम ग्राम मुरूम, राजेश पिता सुबल मरकाम ग्राम मुरूम, जेयलू पिता समरत मरकाम ग्राम मुरूम, ज्ञानसिंह पिता बिरबल मरकाम ग्राम मुरूम, जयसिंह पिता समरत मरकाम ग्राम मुरूम, सोमलाल परते ग्राम अडोरी, मुकेश वरकडे ग्राम थुर्रेमेटा, रज्जु परते निवासी अडोरी, ईश्वर मरकाम ग्राम सोनगुड्डा, संजू मरावी ग्राम अडोरी, समरूसिंह को न्यायालय मंे प्रस्तुत किया गया तथा पुलिस रिमाण्ड में लिया गया।
गिरफतार आरोपियो द्वारा पूर्व में जीआरवी डिविजन की नक्सली दलों एवं विस्तार एरिया के सक्रिय सदस्य के रूप में भाग लेकर सहयोग करना स्वीकार किया गया है।
मुख्य रूप से डाबरी चैकी में छन्नु टेकाम की हत्या, पाथरी चैकी में आगजनी की घटना तथा नक्सल प्रभावित क्षेत्र में कार्य कर रहे तेदूपत्ता ठेकेदारों,रोड ठेकेदार,व्यापारीयों तथा सरपंचों से अवैध राशि की वसूली व गर्मी के मौसम में नक्सली सदस्यों को पानी के स्त्रोंतो का पता बताना स्वीकार किया गया है।
पतिराम मरकाम ने स्वीकार किया की दिनांक 20/12/2017 को डाबरी बाजार में नक्सली कमाण्डर नरेश, महिला नक्सली संगीता और ममता के साथ सभी लोगों पिस्तोल लेकर मडई मेला पहुचे जहां पतिराम से छन्नु टेकाम की पहचान कराकर हत्या की गई पतिराम ने अपनी बत्तीस बोर पिस्टल से फायर किया था परन्तु मिस फायर होने से नक्सली नरेश ने अपनी पिस्तोंल से गोली मारी जो छन्नु टेकाम के सिर में लगी सभी आरोपी वारदात के पश्चात जंगल भाग गये तथा नक्सली कमाण्डर को  छन्नु टेकाम की हत्या की सूचना दी।
आरोपी पतिराम द्वारा जिस पिस्तोल का उपयोग किया गया था उसकी निशानदेही इक्को गांव से बरामद किया गया।
इस घटना के संबंध में थाना लांजी में धारा 302,147,148,149 ताहि 11,13विधिविकिका अधिनियम 25,27 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया था।
इसी प्रकार आरोपी सोमलाल, रज्जू परते व एक अन्य सहयोगी के साथ मिलकर 20/11/2017 को ग्राम अडोरी के पूर्व सरपंच परसुराम परते का टैक्टर को जलाना स्वीकार किया गया।
पतिराम ने बताया की उसका बडा भाई ज्ञानसिंह मरकाम जो तेंदूपत्ता फड मुंशी का काम करता है उसने अपने साथी जयलू मरकाम,जैयसिंह मरकाम,राजेश मरकाम, व अन्य साथियों के साथ एक तेदूपत्ता मैनेजर को चिट्ठी लिखकर पैसों की मांग की थी।
आरोपियों द्वारा नक्सलियों को रोजाना जरूरत की वस्तुओं की पुर्ति करना बैनर पोस्टर लगाना स्वीकार किया गया है।
उपरोक्त जानकारी पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी प्रेस नोट में प्रदान की गई है।
Load More Related Articles
Load More By Sudhir Tamrakar
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बालाघाट दिव्यांगों ने किया अधिक मतदान करने का बनाया रिकार्ड 

आनंद ताम्रकार। बालाघाट बालाघाट सीईओ जिला पंचायत जगदीश गोमे द्वारा बताया गया कि श्री डी.व्ह…