Home बालाघाट 14 करोड रूपये का 50 हजार क्विंटल चांवल ….4 साल से रखे रखे खराब…. कागजों में चांवल की अदला बदली …..श्रीजी एग्रो नेवरगांव कला 60685 क्विंटल धान उठाई…. सिर्फ 32650 क्विंटल चांवल प्रदाय किया ……2 करोड रूपये अमानक चांवल रिजेक्ट……. मात्र 2160 बोरी चांवल अपग्रेड

14 करोड रूपये का 50 हजार क्विंटल चांवल ….4 साल से रखे रखे खराब…. कागजों में चांवल की अदला बदली …..श्रीजी एग्रो नेवरगांव कला 60685 क्विंटल धान उठाई…. सिर्फ 32650 क्विंटल चांवल प्रदाय किया ……2 करोड रूपये अमानक चांवल रिजेक्ट……. मात्र 2160 बोरी चांवल अपग्रेड

0 second read
0
0
23

सुधीर ताम्रकार। बालाघाट जिले में समर्थन मूल्य पर खरीदी गई धान के चांवल बनाने की प्रक्रिया के चलते मध्यप्रदेश राज्य विपणन संघ से अनुबंध करने वालें राईस मिलर्स ने प्रदाय की गई धान को खुलेबाजार में बेच दिया तथा उसके एवज में पुराना रिसाइकिंलिंग किया हुआ चांवल नागरिक आपूर्ति निगम को प्रदाय कर रहे है।
अमानक स्तर के चांवल की क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर से आये गुणवत्ता नियंत्रक द्वारा चांवल का परिक्षण किये जाने पर अब तक अनेक राईस मिलों द्वारा प्रदाय किये गये चांवल को रिजेक्ट कर दिया तथा प्रदाय किये गये चंावल को वापस लेकर निर्धारित गुणवत्ता एवं मानक स्तर का चंावल प्रदाय करने के लिखित निर्देश संबंधित राईस मिलर्स को दिये जा चुके है लेकिन राईस मिलर्स इस फिराक में है कि आपूर्ति निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की सांठगांठ से कागजों में ही चांवल की अदला बदली दिखाकर अपग्रेड किये जाने की कारगुजारी को अंजाम दिया जा सके।
ऐसी कारगुजारी पूर्व में की जा चुकी है इन विसंगतियों के चलते ही कटंगी के गोदामों में भण्डारित 14 करोड रूपये का 50 हजार क्विंटल चांवल अमानक स्तर का खरीदा गया था वह गोदाम में 4 साल से रखे रखे खराब हो गया और किसी भी उपयोग के काबिल नही रह गया है उसके वितरण पर रोक लगा दी गई है।
इतना ही नही भण्डारित विवादित चांवल की देख रेख में अभी भी सरकारी अमला लगा हुआ है।
विगत 4 अप्रेल2018 को श्रीजी एग्रो नेवरगांव कला द्वारा आपूर्ति निगम को प्रदाय किया गया 20 हजार बोरा चांवल जिसका मूल्य 2 करोड रूपये बताया गया है अमानक पाये जाने पर उसे रिजेक्ट करते हुये मानक स्तर का चंावल प्रदाय कर अपग्रेड करने के निर्देश मिलर्स को दिये जा चुके है इसके बावजूद आज दिनांक तक मात्र 2160 बोरी चांवलल ही अपग्रेड किया जा सका है।
श्रीजी एग्रो द्वारा अब तक 60685 क्विंटल धान की मात्रा उठाई है जिसके एवज मंे 32650 क्विंटल चांवल आपूर्ति निगम को प्रदाय किया गया है।
उठाई गई धान की मात्रा के आधार पर अभी भी 8008 क्विंटल चांवल पटाया जाना शेष है अथवा 11940 क्विंटल धान का स्टाक मिलर्स के परिसर में होना चाहिये जो कि नही है।
नियमानुसार रिजेक्ट किये गये चांवल को जब तक अपग्रेड नही किया जाता तब तक मिलर्स से चांवल जमा नही कराया जा सकता इसके बावजूद 3 मई 2018 को 269 क्विंटल चांवल एफसीआई के नवेगांव स्थित गोदाम में कैसे जमा करा लिया।
इस संबंध में नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक श्री डी एस कटारे ने स्वीकार किया की श्रीजी एग्रो द्वारा अब तक लगभग 4 लाट चांवल ही अपग्रेड किया गया है उन्होने यह भी अवगत कराया की 10 मई के पूर्व रिजेक्ट किये गये चांवल को अपग्रेड करने के लिये संबंधित मिलर्स को लिखित निर्देश दिये जा चुके है साथ ही विभागीय कर्मचारियों को भी निर्देश के परिपालन की जवाबदारी सुनिश्चित कर दी गई है।
निश्चित समयावधि तक यदि चांवल अपग्रेड नही होता तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
इस प्रकार अनुबंधित राईस मिलर्स द्वारा कस्टम मिलिंग की आड में मार्कफेड से प्राप्त धान को खुले बाजार में बेचकर अमानक स्तर का चांवल प्रदाय कर रहे है जिसका खमियाजा आम उपभोक्ताओं को भुगतना पडेगा और उन्हें खादय सुरक्षा कानूनों के प्रावधान लागू होने के बावजूद मजबूरन अमानक स्तर के चांवल का उपभोग करना पडेगा।

Load More Related Articles
Load More By Sudhir Tamrakar
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बालाघाट दिव्यांगों ने किया अधिक मतदान करने का बनाया रिकार्ड 

आनंद ताम्रकार। बालाघाट बालाघाट सीईओ जिला पंचायत जगदीश गोमे द्वारा बताया गया कि श्री डी.व्ह…