Home बालाघाट 3 राईस मिलर्स के विरूद्ध प्रशासन नें नहीं की कोई कार्यवाही ……. म.प्र. नागरिक आपूर्ति निगम की प्रबंध संचालक नें एफआईआर दर्ज कराये जाने के निर्देश दिए हैं

3 राईस मिलर्स के विरूद्ध प्रशासन नें नहीं की कोई कार्यवाही ……. म.प्र. नागरिक आपूर्ति निगम की प्रबंध संचालक नें एफआईआर दर्ज कराये जाने के निर्देश दिए हैं

0 second read
0
0
320

आनंद ताम्रकार बालाघाट वर्ष 2017-18 की अवधि में शासन द्धारा किसानो से समर्थन मूल पर खरीदी गई धान का चावल बनाये जाने के लिए राईस मिलर्स से म0प्र0 राज वितरण संग द्वारा कस्टम मिलिंग किये जाने हेतु अनुबंध निस्पादित किये गये थे ।
अनुबध की शर्तो से मुताबित अनुबंध करने वाले राईस मिलर्स द्वारा धान प्राप्त करने के एवज में उन्हे निर्धारित मात्रा में तयशुदा क्वालिटी के मुताबित चावल नागरिक आपूर्ति निगम को प्रदान करना था। चावल जमा करने की अंतिम तिथी 15 जनवरी 2019 तय की गई थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार निर्धारित सीमा अवधि समाप्त हो जाने के बावजुद गोंदियां के 3 राईस मिलर्स द्वारा प्राप्त किये गये धान की एवज में चावल जमा नहीं किया। इन राईस मिलर्स में श्री त्रिपति राईस मिल गोदिंयां ज्योति एग्रो इन्डस्ट्रीज गोदिंयां के नाम बताए गए हैं । जिन्होने 28 लाख धान के एवज में सीएमआर जमा नहीं करवाया। धान की कीमत लगभग 2 करोड 50 लाख रूपये बताई गई हैं।
यह उल्लेखनीय हैं कि म.प्र. नागरिक आपूर्ति निगम की प्रबंध संचालक नें अपने जबलपुर प्रवास के दौरान धान प्राप्त कर चावल न जमा करने वाले राईस मिलर्स के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराये जाने के निर्देश दिए हैं।
बालाघाट जिले में धान प्राप्त कर चावल जमा न करने वाले राईस मिलर्स के विरूद्ध जिला प्रशासन द्वारा अब तक कोई कार्यवाही न किया जाना जन चर्चा का विषय बना हुआ हैं।

Load More Related Articles
Load More By Sudhir Tamrakar
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें …..भारत का बढ़ता तनाव….. भारत का रुपया सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली रुपया एशियाई मुद्रा बन गया

इस साल कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों और तनाव की वजह से भारत का रुपया इस साल की सबसे खराब प्रदर…