Home बालाघाट 4 वर्षो से संचालित हो रहे डीएड,बीएड कालेज को सील कर दिया

4 वर्षो से संचालित हो रहे डीएड,बीएड कालेज को सील कर दिया

2 second read
0
0
94

सुधीर ताम्रकार। बालाघाट  जिले के तहसील मुख्यालय लालबर्रा में शिवाजी ग्रुप ऑफ एजुकेषन मानपुर द्वारा पिछले 4 वर्षो से संचालित हो रहे डीएड,बीएड कालेज को माननीय उच्चन्यायालय के आदेष पर जिला प्रषासन द्वारा 12 जुलाई को सील कर दिया गया।
इस कालेज में कर्नाटक ओपन यूनीर्वसिटी के नाम पर दुरस्थ षिक्षा केन्द्र के माध्यम से छात्र-छात्राओ को प्रवेष दिलाया जाता था। यह उल्लेखनीय है कि षिवाजी गु्रप आफ एजुकेषन कालेज को 11 सितम्बर 2015 को बीएड और डीएड के नाम पर फर्जीवाडा करने के आरोप में पूर्व में प्रषासन द्वारा सील किया गया था इस कालेज में मान्यता प्राप्त होने का दावा करते हुये बीएड की कक्षाओं में बालाघाट एवं सिवनी जिले के लगभग 450 अभ्यार्थीयों को प्रवेष दिलवाया गया था लेकिन परीक्षा की नियत तिथि पर प्रष्नपत्र ना मिलने एवं अन्य विषयों की बजाये अग्रेंजी का प्रष्न पत्र मिलने पर छात्र-छात्राओं ने हंगामा खडा कर दिया। छात्रों ने आरोप लगाया था कि उन्हें गुमराह करते हुये 50 हजार रूपये लेकर कर्नाटक ओपन यूनिर्वासिटी के माध्यम से परीक्षा करवाई जा रही है इस फर्जीवाडे की षिकायत छात्रों ने पुलिस को की जिसके आधार पर पुलिस ने कालेज से दस्तावेज जप्त किये और संचालक महेन्द्र सारवे को गिरफतार किया।
इस कार्यवाही के विरूद्ध संस्था द्वारा माननीय उच्च न्यायालय में दायर की गई थी जिसे खारिज कर दिया गया।
इसी परिपेक्ष्य में मध्यप्रदेष शासन उच्च षिक्षा विभाग मंत्रालय के पत्र क्रमांक 854/15/न्याया/टीएल/सीसी 2017/38-1 भोपाल से 22 जून 2017 तथा क्षेत्रीय कार्यालय उच्चशिक्षा जबलपुर संभाग के पत्र क्रमांक 1281 जबलपुर दिनांक 28 जून 2017 को निर्देष पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व वारासिवनी तहसीलदार लालबर्रा डीएस मरावी एवं स्नातक महाविद्यालय की प्रभारी प्राचार्य प्रीति वासनिक के द्वारा पुलिस की उपस्थिति में कालेज को सील कर दिया गया।
यह उल्लेखनीय है कि बालाघाट जिले में ऐसे अनेक संस्थायें अभी भी संचालित कि जा रही है जो प्रदेष तथा प्रदेष के बाहर के विष्वविद्यालयों से मान्यता प्राप्त होने का दावा कर रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार इन संस्थाओं के पास मान्यता संबंधित दस्तावेज नही है लेकिन विज्ञापनों के माध्यमों से विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेष करने का हवाला देकर छात्र-छात्राओं से प्रवेष षुल्क के नाम पर हजारों रूपये वसूल रहे है।

Load More Related Articles
Load More By Sudhir Tamrakar
Load More In बालाघाट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सांप सीढी बनाकर मतदान के लिये किया जागरूक

आनंद ताम्रकार। बालाघाट भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त सोशल मीडिया एम्बेसडर दुर्गेश तिवा…